Ashokdham Temple in Lakhisarai

इंद्रमनेश्वर महादेव या अशोकधाम मंदिर

इंद्रमनेश्वर महादेव या अशोकधाम मंदिर जो लक्खीसराय जिले में है. यह जगह सर्वप्रथम 7 अप्रैल 1977 ईस्वी को, दुनिया के पटल पर आया. यह शिवलिंगम जो आज अशोकधाम के नाम से प्रसिद्ध मंदिर है उन्हे जमीन के नीचे सर्वप्रथम 7 अप्रैल 1977 ईस्वी खोजा गया था, जब एक अशोक नाम के प्रतापी बच्चे ने भगवान के शिवलिंग को गिल्ली-डंडा खेलने के क्रम में खोजा था या यूँ कहें की नियति के नियमा अनुरूप भगवान शिव को आना था। इसके फलस्वरूप 11 फरवरी 1993 को, जगन्नाथपुरी के शंकराचार्य ने मंदिर परिसर के पुनर्निर्माण कर बिधिवत उद्घाटन किया, और जनमानस के दर्शन और पूजा के लिए खोला गया।
आप यहाँ रेलवे मार्ग से किउल या लखीसराय जंक्शन उतरकर अशोकधाम सड़क मार्ग से आ सकते हैं। यहाँ पर अशोकधाम नाम से रेल हाल्ट भी है, और लोकल एमु ट्रेन से यहाँ उतरकर मंदिर का दर्शन कर सकते हैं।

सड़क मार्ग से –
१ . मोकामा से चलकर बरहिया होते हुए लखीसराय से अशोकधाम मंदिर आ सकते हैं।
2. मुंगेर से जमालपुर – पटना मार्ग होते हुए सूर्यगढ़ा से आगे चलकर अशोकधाम मंदिर आ सकते हैं।
3. जमुई जिले से चलकर लखीसराय होते हुए अशोकधाम मंदिर आ सकते हैं।

रेल मार्ग:
१. पटना जंक्शन से लखीसराय उतरकर, फिर सड़क मार्ग होकर अशोकधाम मंदिर आ सकते हैं।
2. गया जंक्शन से लखीसराय उतरकर, फिर सड़क मार्ग होकर अशोकधाम मंदिर आ सकते हैं।
३. जमालपुर जंक्शन से लखीसराय उतरकर, फिर सड़क मार्ग होकर अशोकधाम मंदिर आ सकते हैं।
४. कोलकाता जंक्शन से जमुई होते हुए लखीसराय उतरकर, फिर सड़क मार्ग होकर अशोकधाम मंदिर आ सकते हैं।

 

Indradamneshwar Mahadev famously known as Ashokdham temple in Lakhisarai district of Bihar.